Best Web Blogs    English News

facebook connectrss-feed

mere shabd

Just another weblog

3 Posts

5 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

| NEXT

बचपन की यादें

पोस्टेड ओन: 12 Jun, 2012 में

खेतों पे जाना
नदी में नहाना
मेड़ों पे चलना
गिर के संभलना

सावन का मौसम
गहराता बादल
बारिश की रिमझिम
खुद को भिगोना

आँगन में झूला
द्वारे का नीम
पडोसी की बकरी
डंडे से भगाना

मेले की चाट
चौराहे की जलेबी
छोटी सी अमिया
पत्थर से गिराना

गिल्ली का डंडा
साइकिल का पहिया
चोर और सिपाही
खुद को छिपाना

चूल्हे की रोटी
हांडी का मक्खन
दूध की मलाई
चुपके से खाना

कितनी हैं प्यारी
आधी अधूरी
वर्षों पुरानी
बचपन की यादें

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.33 out of 5)
Loading ... Loading ...

5 प्रतिक्रिया

  • Share this pageFacebook0Google+0Twitter0LinkedIn0
  • SocialTwist Tell-a-Friend

Similar articles : No post found

| NEXT

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

pritish1 के द्वारा
June 15, 2012

नमस्ते……. कुलदीप जी आपका लेखन अच्छा लगा मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है…..कुछ है समय में मैं अपनी kahani ऐसी ये कैसी तमन्ना है भाग २ प्रकाशित करूँगा…….आप इसका पहला भाग मेरे ब्लॉग पर देख सकते हैं.. कृपया अपने सुझावों से मुझे अवगत करैं…..

dineshaastik के द्वारा
June 15, 2012

बचपन की यादों की बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति….

    kuldeepsinghbais के द्वारा
    June 17, 2012

    नमस्कार दिनेश जी आपके प्रोत्साहन के लिये धन्यवाद् आशा हैं की आप आगे भी मुझे प्रोत्साहित करते रहेंगे

kuldeepsinghbais के द्वारा
June 15, 2012

thanks for comments Punita ji……………………… यह मेरी पहली कविता है……………. i hope……….aap aage bhi mera margdarshan karte rahenge

Punita Jain के द्वारा
June 14, 2012

बचपन की यादें प्रस्तुत करती सुन्दर कविता |




  • ज्यादा चर्चित
  • ज्यादा पठित
  • अधि मूल्यित